रिकॉर्ड सातवीं बार आईपीएल के फ़ाइनल में चेन्नई

213

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

रिकॉर्ड सातवीं बार आईपीएल के फ़ाइनल में चेन्नई
इस जीत के साथ ही चेन्नई सुपरकिंग्स सातवीं बार आईपीएल के फ़ाइनल में जगह बनाने में कामयाब हो गई है.
चेन्नई को फ़ाइनल में पहुंचाने में मैन ऑफ़ द मैच फ़ाफ़ डुप्लेसिस की भूमिका रही जिन्होंने 42 गेंदों में नाबाद 67 रन बनाए. वह मैच की शुरुआत में बल्लेबाज़ी करने आए और अंत में टीम को जीत दिलाकर लौटे.
चेन्नई सुपरकिंग्स का अब मुक़ाबला फ़ाइनल में रविवार को क्वॉलिफ़ायर-टू के विजेता से होगा.
इससे पहले चेन्नई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी का फ़ैसला लिया था और सनराइज़र्स हैदराबाद ने सात विकेट के नुकसान पर 139 रन बनाए थे.
हैदराबाद का कोई भी बल्लेबाज़ कुछ कमाल नहीं दिखा पाया लेकिन सातवें नंबर पर बल्लेबाज़ी करने उतरे कार्लोस ब्रेथवेट ने 29 गेंदों में नाबाद 43 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने चार छक्के और एक चौका जड़ा.
चेन्नई सुपरकिंग्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी का लिया फ़ैसला
अच्छी नहीं रही शुरुआत
इसके जवाब में जब चेन्नई सुपरकिंग्स बल्लेबाज़ी करने उतरी तो उसकी शुरुआत कुछ अच्छी नहीं रही.
पहले ओवर की पांचवीं गेंद पर ही हैदराबाद के गेंदबाज़ भुवनेश्वर कुमार ने शेन वॉटसन को शून्य पर कैच आउट करा दिया. उनकी जगह बल्लेबाज़ी करने आए सुरेश रैना ने दूसरे ओवर में लगातार तीन चौके लगाकर क्रीज़ पर जमने की कोशिश की लेकिन चौथे ओवर की तीसरी गेंद पर सिद्धार्थ कौल ने उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया.
एक तरफ़ डुप्लेसिस जमे रहे लेकिन दूसरी ओर टीम के विकेट गिरते रहे. अंबाती रायडू भी पहली गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए. महेंद्र सिंह धोनी को भी नौ रन पर राशिद ख़ान ने चलता किया.
इसके बाद भी कोई बल्लेबाज़ कोई ख़ास रन नहीं बना पाया लेकिन चेन्नई को जीत का तोहफ़ा डुप्लेसिस ने दिया.
उन्होंने छक्का मारकर टीम को जीत दिलाई. इस पारी के दौरान डुप्लेसिस ने पांच चौके और चार छक्के जड़े.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.